web hosting क्या है? और कैसे खरीदे ?

हेलो फ्रेंड्स, आज हम जानेगे web hosting क्या है? और इसे कैसे ख़रीदे? हम सब जानते है की आज के इस डिजिटल युग में सभी लोग अपना करियर कोई professional फ़ील्ड्स में बनाना चाहते है. इसके लिए आज हर कोई कोई न कोई ऑनलाइन प्लेटफार्म पर अपना creative स्किल्स से digitally grow होने के try करते रहते है.

जैसे की ब्लॉग बनाकर ब्लॉग्गिंग करना आज कल common हो गया है. आज से १० years से पहले blog का किसी ने नाम भी नहीं सुना होगा पर आज के ज़माने में ये word सामान्य हो गया है। 4g इंटरनेट आने के बाद तो इसका बहुत ही क्रेज बढ़ गया है।


आज के डेट में ब्लॉग तो सभी बना देते है। पर जब एक प्रोफेशनल ब्लॉग बनाने के लिए पेड़ ब्लॉग बनाने के लिए वेब होस्टिंग की बात आती है तो beginner ब्लॉगर को यह confusion रहता है की कोनसा वेब होस्टिंग ख़रीदे और कैसे ख़रीद. ज्यादातर जो ब्लॉगर्स ने already वेब होस्टिंग खरीदके अपना ब्लॉग बना लिया है उनको भी प्रॉपर गाइड न मिलने पर wrong होस्टिंग खरीद लेते है इससे उनको काफी प्रोब्लेम्स का सामना करना पड़ता है.

web hosting क्या है और कैसे खरीदे


इस लिए आज में आपको पुरी जानकारी देने का पूरा प्रयास करूँगा जिससे आपको कोई सवाल न रहे. आज हम जानेगे hosting meaning इन हिंदी,उसके प्रकार के बारेमे जानेंगे कितनी टाइप की होस्टिंग होती है. और आपके लिए कोनसी अच्छी रहेंगी वोह भी जानेंगे जिससे आप सही चुनाव कर सके.

वेब होस्टिंग क्या है? (What is web hosting in Hindi?)

एक ऐसी जगह जहा पर आप अपनी वेबसाइट के डाटा को store कर सके. अगर हम इसे आसान भाषा में समजे तो अगर हमें अपनी कोई इमारत बनानी हो तो सबसे उसके लिए कोई अच्छी सी जमीन खरीदते है ठीक वैसे ही यह पर है इमारत की जगह हमारी वेबसाइट या फिर ब्लॉग है.उसके डाटा जैसे की images, videos, text content, और भी कई फाइल्स उसमे स्टोर होते है

web hosting खरीदना जरुरी है क्या ?

अगर आप अपना ब्लॉग blogger.com यानी की गूगल की साइट पर बनाया है तो आप को कोई वेब होस्टिंग buy करनेकी जरुरत नहीं है. पर हा अगर आप कहते है की आपको अपने ब्लॉग के लिए काफी फीचर्स मिले अच्छे से अपने मन मुताबिक उसे customization करना चाहते हो तो आपको अपने ब्लॉग को वर्डप्रेस में transfer करना पड़ेगा. या फिर अगर आप पहले से ही एक अच्छा ब्लॉग या फिर अपनी वेबसाइट word press या फिर किसी और प्लेटफार्म जैसे की joomla, Drupal किसी पर बनाना चाहते है तो आपको वेब होस्टिंग खरीदनी ही पड़ेगी।


देखिये फ्रेंड्स, वेब होस्टिंग खरीदना इसलिए जरुरी हे क्युकी वर्डप्रेस एक ओपनसोर्स cms है यानी की content management system जो की एक CMS सर्विस प्रोवाइडर हम कह सकते है. जो आपको अपनी कोई होस्टिंग फ्री में नहीं देता.

और अगर हम blogger.com की बात करे तो वोह तो गूगल की अपने सर्वर पर होस्ट करता है ब्लॉग को इसलिए आपको फ्री स्पेस मिलती है अपने ब्लॉग के लिए और उसमे आपकी कोई अलग से होस्टिंग खरीदना नहीं पड़ता. पर अगर आप एक एडवांस फीचर की वेबसाइट या ब्लॉग बनाना चाहते हो और उसे अच्छे पैसे कमाने है तो मेरी सलाह यही रहेंगी की एक अच्छी अपनी ब्लॉग के जरूरियात अनुसार कोई होस्टिंग सर्विस खरीदे।

वेब hosting का काम क्या है?

कोई भी ब्लॉगर जब अपना ब्लॉग develop करता है तो उसके ब्लॉग को बना ने के पीछे main motive उसका यही रहता है की उसका बनाया हुआ content दुनिया के साथ शेयर हो। यह पर इनफार्मेशन share करनी हो तो जाहिर सी बात है की ब्लॉग के कंटेंट को वेब होस्टिंग पर उस डाटा को पहले upload करना पड़ेगा.


जैसे ही आप का डाटा वेब होस्टिंग पर अपलोड होता है. और अगर आपकी वेबसाइट पर कोई किसी भी browser like.. crome ,mozila firefox, internet explorer etc. से visit करता है जैसी की हमारी वेबसाइट है https://ydmarketing.in फिर इंटरनेट इस डोमेन नेम को वोह वेब सर्वर के साथ connect कर देता है जहा पर advance में हमारी वेबसाइट का डाटा सेव करके रखा है.


जब ये डोमेन को वेब सर्वर के साथ जोड़ने की प्रोसेस हो जाती है वैसेही कुछ ही seconds में सारी जानकारी वह user के कंप्यूटर स्क्रीन पर पहुंच जाती है। और बाद में वह यूजर बहुत ही आसानी से उस इनफार्मेशन को पढ सकता है और जानकारी हासिल कर सकता है।

web hosting क्या है और कैसे खरीदे

web hosting कहासे ख़रीदे ?

हमे ये तो पता चल गया की वेब होस्टिंग क्या होती है। पर जब उसे खरीदने की बात आती है तो बहुत ही सावधानी से उसे खरीदना पड़ता है. वैसे तो काफी सारी companies वर्ल्ड में available है जो होस्टिंग सर्विस प्रोवाइड करती है.

पर में मेरे नॉलेज के हिसाब से कहु तो आपको सबसे पहले यह सुनिश्चित करना पड़ेगा की आपकी audience कोन है ? मेरा मतलब है कोनसी country को आप टारगेट करना चाहते हो. उदाहरण के तौर पर आप एक हिंदी ब्लॉग बनाते हो तो आपका main टारगेट India है.

मेरी माने तो आप India से होस्टिंग खरीदना चाहिए. क्यों की आप जितना आपका होस्टिंग सर्वर आपके लोकेशन के पास होगा उतना ही आपके वेबसाइट/ब्लॉग के लिए बहुत अच्छा रहेगा।

अगर आप इंडिया से belong करते हो और आपकी टारगेट ऑडियंस भी इंडिया है तो आप इंडियन होस्टिंग providers GoViralHost से होस्टिंग खरीद सकते हो. उसके साथ और भी लाभ है जैसे की आपको payment ऑप्शन credit कार्ड के आलावा कई सारे है. आप net banking से या फिर ATM डेबिट कार्ड से भी खरीद सकते हो। में कुछ ऐसे भरोसेमंद होस्टिंग प्रोवाइडर्स के नाम आपको निचे suggest करता हु जहा से आप होस्टिंग buy कर सकते है.

Hostinger

मेरे suggestion में आप को इंडिया से बार से हो तो usa को टारगेट base आपका ब्लॉग है तो आपके लिए namecheap बेस्ट रहेगी. उसका सर्वर
Response काफी अच्छा मिलेगा uptime अच्छा है और कस्टमर सपोर्ट भी अच्छा है और होस्टिंग सर्विस provider’s से भी ले सकते है.

web hosting खरीदने से पहले ध्यान में क्या रखना चाहिए?

जब हम वेब होस्टिंग खरीदते है तब हमें काफी चीजों को ध्यान में रखना पड़ता है. क्यों की अपनी वेबसाइट का पूरा control वही से होता है web hosting जब हम बाय करते है तब आपको डिस्क space कितनी मिलती है , आपको कितने वेबसाइट होस्ट करने का ऑप्शन है uptime कितना मिलता है , कस्टमर्स सपोर्ट सिस्टम कैसा है कंपनी का, और bandwidth कितना मिलता है ये सब हमें देखा होता है

Disk Space

हमने जैसे बताया था की वेब होस्टिंग में आपको आपके साइट /ब्लॉग का डाटा स्टोर करने के लिए आपको जगा दी जाती है। यहाँ पर technical लैंग्वेज में डिस्क space कहा जाता है जहापे आप अपनी वेबसाइट का डाटा store करेंगे. जैसे जी हमे कंप्यूटर में स्टोरेज मिलता है hard disk के नाम से 500 GB
ऐसे ही वेब होस्टिंग में भी होता है

Bandwidth

आपकी वेबसाइट १ सेकंड में कितना डाटा को एक्सेस कर सकता है उस प्रोसेस को हम simply bandwidth कहते है अगर आपकी bandwidth ज्यादा होगी और जब आपकी ब्लॉग पर विजिटर ज्यादा आ जाते है एक साथ तो भी आपकी वेबसाइट डाउन नहीं होगी. मेरे कहने का मतलब है ज्यादा ट्रैफिक में भी आपकी वेबसाइट अच्छे से लोड होगी

Uptime

हमारी वेबसाइट कितने टाइम ऑनलाइन रहती है या फिर available होती है. बिना कोई एरर या प्रॉब्लम के बिना लाइव रहती है उसे हम uptime कहते है.


और जब किसी प्रॉब्लम की वजह से कोई error आती है वेबसाइट लोड ही नहीं हो पाती या ओपन ही नहीं होती उस प्रोसेस को हम डाउनटाइम कह सकते है.
Generally आज कल हर कोई वेब होस्टिंग सर्विस providers 99.99% अपटाइम देने की guarantee देते है.

customer सर्विस

जब कस्टमर सपोर्ट सर्विस की बात आती है तो सभी होस्टिंग providers 24 x 7 सपोर्ट देने दावा करते है सच में ऐसा होता नहीं. जितनी भी होस्टिंग सर्विसीस मेरा experience है उसमे namecheap का अच्छा response है

Blogging क्या है कैसे करते है benefits क्या है पूरी जानकारी Hindi में

types of web hosting in Hindi -वेब होस्टिंग के प्रकार:

अबतक हमने जान लिया की वेब होस्टिंग क्या है ? उसका काम क्या है. अब हम उसके प्रकार की बात करे तो काफी प्रकारके होस्टिंग होती है पर जो मुख्य होस्टिंग के प्रकार है वोह आज हम आपको बताएँगे. basically 4 types की होस्टिंग होती है

  1. shared वेब होस्टिंग ,
  2. VPS होस्टिंग, (virtual private server )
  3. Dedicated होस्टिंग,
  4. Cloud वेब होस्टिंग
web hosting क्या है और कैसे खरीदे

1.shared वेब होस्टिंग:

चलिए एक उदाहरण के साथ उसे समझते है, मान लीजिये आपका कोई मकान है उसमे एक रूम ऐसा है की वोह खाली पड़ा है.

उसे आपने कोई २/३ person को वोह एक की कमरे को rent पर दिया है. यहाँ एक रूम में काफी बन्दे एक साथ रहते है बिलकुल वैसे ही shared वेब होस्टिंग का काम है.

नाम से ही पता चलता है शेयर करना दुसरो के साथ. मेरा मतलब है काफी साड़ी वेबसाइट के साथ. shared होस्टिंग में काफी सारी websites का डाटा एक ही सर्वर पे स्टोर किया जाता है.

2.VPS होस्टिंग, (virtual private server ):

ये एक virtual टेक्नोलॉजी based होता है. इस लिए उसे virtual private server के नाम से भी जाना जाता है. vps होस्टिंग की बात एक example से समजे तो जब आप अपने घर के पुरे एक रूम को किसी एक को rent पर देते है तो उस कमरे पर आपका हक होता है.

ठीक वैसे ही vps होस्टिंग का है उसमे आपको किसी के साथ शेयर करने की आवश्कयता नहीं होती. उसमे shared होस्टिंग के मुकाबले काफी अच्छी सिक्योरिटी और privacy मिलती है अगर आप एक dedicated होस्टिंग जैसा performance dedicated होस्टिंग के मुकाबले कम खर्च में देखना चाहते हो तो आपके लिए Vps होस्टिंग का चुनाव बेस्ट रहेगा।

3.Dedicated web hosting:

ये shared होस्टिंग से बिलकुल different है. shared होस्टिंग में क्या होता था बहुत websites का डाटा एक ही सर्वर पर होस्ट होता था. इससे क्या होता था जब आपको जैसे एक रूम के कई सारे लोग.और यहां dedicated होस्टिंग में आपको उससे पूरा उल्टा ही मिलता है मनो की आपको पूरा घर दे दिया जाता है.

dedicated होस्टिंग में आपको आपकी अकले कि एक ही वेबसाइट का डाटा स्टोर होता है. इस लिए काफी fast response देता है. server ये ज्यादा costly है। अगर आपके वेबसाइट पर हर महीने ज्यादा विजिटर आते है जैसे की ecommerce वेबसाइट amazon, flipkart ,etc ये कम्पनियाँ भी डेडिकेटेड होस्टिंग का use करती है

4.Cloud वेब होस्टिंग:

ये एक ऐसी वेब होस्टिंग सर्विस है जहा पर आपको पूरा resources virtually मिल जाता है जिसे कही से भी access किया जा सकता है वैसे ही उसके नाम से ही मालूम हो जाता है क्लाउड based.

generally इसमें क्या होता है आपकी वेबसाइट काफी सारे वेब सर्वर का resources access कर सकती है. means दूसरे cluster सर्वर का इस्तेमाल क्र सकती है इससे आपको होस्टिंग की सभी requirement fulfill होती है.

इसलिए ये सबसे तेज है. और सबसे महंगा भी है. इसलिए ये अपनी वेबसाइट को आसानी से कैसे भी traffic को control कर सकती है बड़ी आसानी से.

आज आपको इस लेख से क्या सिखने को मिला ?

फ्रेंड्स, आज हम ने आपको हमारे इस लेख द्वारा बताया की वेब होस्टिंग क्या होती है ? और उसे कहासे ख़रीदे वोह भी हमने जाना. और तो और हम ने जाना की होस्टिंग के प्रकार कितने होते है ? आशा है की हमारी ये पोस्ट से आपका सवाल के सारे जवाब संतोषकारक मिले होंगे।

मेरी हमेशा यही कोशिश रहती है की आपको आपके हर एक सवाल का जवाब बहुत ही सिंपल भाषा में easy तरह से समज में आये.


अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी हो या हेल्पफुल लगी हो या फिर इससे आपको कुछ भी जानने को मिला हो तो ple. ये पोस्ट अपने फ्रेंड्स, रिलेटिव्स को शेयर कीजिये जो ऑनलाइन वेबसाइट या फिर ब्लॉग्गिंग से पैसा कामाना चाहते हो?


क्यों जी हम आपके लिए ब्लॉग्गिंग और डिजिटल marketing के related बहुत ही हेल्पफुल जानकारी रेगुलर update करते रहते है

अगर ये पोस्ट रियली आपके लिए हेल्पफुल रही हो तो दूसरे के साथ सोशल प्लेटफार्म जैसे की facebook, tweeter, whatsapp और भी सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर शेयर जरूर करे. ताकि ये ज्ञान सभी के लिए मददरूप हो सके.

Spread the love
Copy link
Powered by Social Snap